Sexsamachar.com
... ...

मेरी क्लासमेट ज़ारा की चुदाई

मैं एक कंपनी मे हू पर ये तब की बात है जॉब मैं फाइनल एअर का स्टूडेंट था, हमारी क्लास मे टोटल 66 स्टूडेंट्स थे जिनमे 22 गर्ल्स थी. उन्ही मे से एक थी ज़ारा, जब हमारी रिपोर्टिंग हुई तो उसे मैने पहली बार देखा त और सोचा था की इसे तो मैं आपनी गर्लफ्रेंड बनौँगा चाहे कुच्छ भी करना पड़े.

Hindi Sex Stories, Indian Sex Stories, Hindi Font Sex Stories, Desi Chudai Kahani, Free Hindi Audio Sex Stories, Hindi Sex Story, Gujarati sex story, chudai, kamukta, kamukta story

हमारी 1स्ट्रीट एअर की क्लासस स्टार्ट हुई,मैने 1स्ट्रीट दे से ही क्लास लेना स्टार्ट कर दिया थे क्योंकि मैं कोई चान्स नही लेना चाहता थे की कोई और ज़ारा पर दूरे डाले, वो 4 दिन बाद कॉलेज आई. कुछ दिन बाद रेजिंग के डॉरॅन मेरे एक सिनिओर ने मुझसे पूछ की मुझे क्लास मे सबसे ज़्यादा पसन कोन सी लड़की है तो मैने कहा की ज़ारा, बस मैने तो इतना ही कहा था और मेरे गाल पर एक जोरदार छाँटा पड़ा, बाद मे मुझे पता चला की वो उस सीनियर की कज़िन है. अब तो मेरा इरादा और पक्का हो गया क्योंकि मुझे उसकी वजह से छाँटा भी प़ड़ चुका था.

loading...

ज़ारा से मैं क्लास मैं थोड़ी बहुत बाते कराता था, हालाँकि मैं शुरू से ही को-एड स्कूल्स मैं पड़ा हू लेकिन कभी मैने लड़कियो को भाव नही दिया क्योंकि मैं क्लास का 2न्ड टॉपर था और लड़किया खुद ही मेरे पास आती थी. यहा की बात ही कुछ और थी, कॉलेज का 1 फ्रेंडशिप दे था सभी एक दूसरे को बंद बाँध रहे थे, मैं फ्रेंडशिप बंद लेकर ज़ारा के पास गया और उसे वो आक्सेप्ट करने के लिए कहा.

उसने मुझे देखा, उस बंद को देखा और कहा “हाउ डरे उ तो प्रपोज़ मे फॉर फ्रेंडशिप” क्या हो तुम. उसने सारी क्लास के सामने मुझसे ऐसा कहा, मुझे उस वक़्त इतना बुरा लगा की क्या बताउ, मेरी इतनी बेइज़्ज़ती कभी नही हुई थी. तब तक मैं सिर्फ़ ज़ारा से दोस्ती करना चाहता था, उसे चोदूगा या और कुछ ऐसी कोई चाहत नही थी मेरी लेकिन उस दिन मैने सोच लिया की इस दिन का बदला मैं ज़रूर लंग. उसके बाद मेरे कई अच्छे दोस्त बन गये, लड़किया भी थी क्योंकि मैं हमेशा पड़ाई मे और प्रॅक्टिकल्स मे सबकी मदद कराता था.

Hindi Sex Stories, Indian Sex Stories, Hindi Font Sex Stories, Desi Chudai Kahani, Free Hindi Audio Sex Stories, Hindi Sex Story, Gujarati sex story, chudai, kamukta, kamukta story

अब हम 2न्ड एअर मे आ गये, हमारे क्वालिटी ग्रूप बने तो उसमे ज़ारा भी थी, ई वाज़ थे मोस्ट इंटेलिजेंट स्टूडेंट ऑफ और ग्रूप, अब सबको मेरी हेल्प चाहिए होती थी, मैं सबकी हेल्प कराता था ख़ासकर प्रॅक्टिकल्स मे ज़ारा की भी कराता लेकिन उससे उस दिन के बाद कभी बात नही की थी, इस बार फ्रेंडशिप दे पर ज़ारा ने मुझे प्रपोज़ किया, लेकिन मैने उसे माना कर दिया, लेकिन मेरे क्वालिटी ग्रूप मेंबर्ज़ के कहने पर मैने बंद बँधवा लिया लेकिन बात तब भी नही की, वक़्त सारी बातो को भुला देता है, हम सभी सबकुछ भूल कर मस्ती और पड़ाई करने लगे अब ज़ारा मेरी गर्लफ्रेंड बन चुकी थी और सारा कॉलेज इस बात को जानता था. सेप. 20, 2003 मैने ज़ारा से मेरे साथ मेरे मामा की लड़की की शादी मैं चलने को कहा तो उसने हा कर दिया, बाकी फ्रेंड्स भी हमारे साथ थे, यहा एक बात बठाना चाहूँगा की हम दोनो ही हॉस्टिल मैं रहते थे,

26 सेप. को हम मेरे मामा जी के घर पर थे हम कॉलेज से 18 दिन की लीव लेकर आए थे, टीचर्स से कॉंटॅक्ट होने के कारण कोई परेसानी नही थी, शादी 29 सेप. की थी, मस्ती मैं शादी कंप्लीट हो गयी, उसके बाद मेरे सारे फ्रेंड्स आपने होमटाउन चले गये, ज़ारा ने भी कहा तो मैने उसे नही जाने दिया, उसे मैं आपने होमे टाउन के आया, मेरे सारे फॅमिली मेंबर्ज़ अभी मामा के यहा ही थे और अगले 5 दिन तक नही आने वाले थे, मैने पड़ोस की आंटी से के ली और सीधा सीधा बेड पर जाकर गिरा, ज़ारा ने हम दोनो के लिए चाय बनाई,मैने उसे सारा घर दिखाया और नहाने चला गया, ज़ारा कंप्यूटर पर सॉंग्स सुन रही थी. मैं बात लेकर बाहर आया तो देखा की ज़ारा का गोरा चेहरा एक दम लाल हो रा था और वो तेज तेज साँसे ले रही थी, जब मैने पूछा की क्या हुआ तो उसने कहा कुछ नही और तेज़ी से कपड़े लेकर बाथरूम चली गयी, मेरी समझ मे कुच्छ भी नही आया, उसने सॉंग्स बंद कर दिए थे,

loading...

Hindi Sex Stories, Indian Sex Stories, Hindi Font Sex Stories, Desi Chudai Kahani, Free Hindi Audio Sex Stories, Hindi Sex Story, Gujarati sex story, chudai, kamukta, kamukta story

मैने सोच की मैं सॉंग्स स्टार्ट कराता हू, जैसे ही मैने विंडोस मीडीया प्लेयर ओपन किया उसमे जो फाइल ऑलरीडी स्टोर थी वो प्ले हो गयी और उसे देखते ही मेरी समझ मे सबकुछ आ गया, आक्च्युयली तट कंप्यूटर इस फॉर माई यंगर ब्रदर, उस पर ब्लू फिल्म लोड थी, फिर मैने देखा तो वो सारी क्लीपिंग्स थी जो हॉलीवुड मूवीस मैं होती तो है लेकिन जब उन्हे एशिया मे रिलीस करते है तो हटा देते है, अब मुझे मज़ा आने लगा था और जूनियर पर हँसी भी आ रही थी लेकिन वो भी तो लड़का है, वो व्ह सोचता आयी, मैं उन्हे देखता रहा एक से एक क्लिप था, अचानक मुझे ध्यान आया की बहुत देर हो गयी लेकिन ज़ारा अभी था बात लेकर नही आई, मेरा लंड तो टाइट होना ही था वो था, आक्च्युयली अब मैं सोच रहा था क्यो नही ज़ारा को चोदा जाए, घर मे हम दोनो ही थे कोई ड्ऱ नही था, वो भी एग्ज़ाइटेड थी इधर मैं भी था. मैं चुपके से बहटरूम के पास गया लेकिन वाहा कोई साउंड नही था, एक बार सोचा की ज़ारा को आवाज़ डॉन, लेकिन मैने धीरे से दरवाज़े पर हाथ रखा तो वो खुल गया यानी अंदर से लॉक नही था,

मैने देखा ज़ारा आपने पर फेलकर बैठी है और आपनी चुत को रग़ाद रही है,मेरा लंड पहले से ही टाइट था इस सीन को देखकर तो वो हाफ पेंट से बाहर आने को तड़पने लगा, मैने कुछ भी नही सोचा और सारे कपड़े बाहर ही उतारकर एकदम से अंदर गया, ज़ारा मुझे देखार एक दम चोणकी लेकिन मुझे भी नंगा देखकर उसने आपना मूह दूसरी तरफ कर किया, ई साइड: क्या हुआ मेरी जान तुम भी नंगे हम भी नंगे तो शर्म कैसी, ज़ारा: बदमाश बाहर जाओ, ई साइड: नही ज़ाऊगा मैं तो तुम्हे प्यार करूँगा बोलो क्या करोगी, ज़ारा: तो मैं भी तुम्हे प्यार करूँगी मैने उसे आपने सिने से लगा लिया और उसे गले एप्र किस करने लगा. ज़ारा: प्ल्ज़ मुझे और मत तड़पाव, इतनी देर से तो तुम्हारा इंतेज़ार कर रही हूँ, मैं उसके लिप्स को किस करने लगा और उसकी चुत पर आपना हाथ फिरने लगा, वो पूरी तरह एग्ज़ाइटेड थी. उसने आपने हाथ जोड़कर कहा प्ल्ज़ मुझे और मत तड़पाव, अगली बार जब करो तो चाहो जैसे करना पर इस बार मेरी चुत मे आपना लंड डाल कर इसकी खुजली मिटा दो वरना मैं पागल हो जौंगी.

Hindi Sex Stories, Indian Sex Stories, Hindi Font Sex Stories, Desi Chudai Kahani, Free Hindi Audio Sex Stories, Hindi Sex Story, Gujarati sex story, chudai, kamukta, kamukta story

ठीक है मैने कहा और उसे बाथरूम के गीले फर्श पर लिटा दिया,उसकी चुत पर छोटे बाल उगे हुए थे लग रहा था की उसने कुछ दिल पहले ही शेविंग की है, मैने आपने लंड को पकड़ा और उसकी चुत पर टीका दिया,और हल्का सा आयेज दबाया लेकिन मेरा लंड फिसल कर नीचे चला गया, पफिर मैने कुछ सोचा और वाहा न्यू एअर पॉंड्स करीम लाया और उसे आपनी फिंगर पर लेकर उसकी चुत मे लगाया और थोड़ी आपने लड़ पर भी लगाई, मैने उसकी दोनो पर आपने कंधो पर रख लिए, उसने आपने दोनो हॅंड्ज़ से आपने चुत के मुहाने को .और वाइड करने की कोशिस की, एक बार फिर मैने आपना लंड ज़ारा की चुत पर टीक्या और कहा डालो क्या, उसने कहा हाँ तो मैने एकदम ज़ोर से शॉट मारा और ऑलमोस्ट 1.5 इंच लंड घुसा लेकिन वो एक दम से चिल्लाने लगी ओह मम्मी मार गयी..प्ल्ज़ ज़ैन निकालइसे बाहर वरना मार जौंगी मैं..प्ल्ज़ मैं तुम्हारे हाथ जोड़ती हू निकालो इसे…मुझे नही चुदयाना,

उसकी आँखो मैं आँसू आ गये, मैने सोच की अगर इस बार निकल लिया तो ये दुबारा डालने ही नही देगी, इसलये मैने कहा ठीक है निकलता हू, और उसके बूब्स को दबाने लगा और उसके लिप्स को किस करने लगा. आफ्टर ऑलमोस्ट 2 मीं. ज़ारा थोड़ी रिलॅक्स हुई तो मैने लंड को थोड़ा हिलाया लेकिन वो . माना करने लगी मैने कहा अरे मैं डाल नही रहा निकल रहा हू, जैसे ही उसने आपनी बॉडी को रिलॅक्स किया मैने एकदम जोरदार शॉट मारा और मोरे तन वन थर्ड लंड अंदर चला गया. आआहह….मार डाला मुझे….ओह मम्मी….मैने तुम्हे माना किया था ना मत डालना….लेकिन तुम नही माने ….बहुत दर्द हो रहा है…..मैं मार जौंगी……ओह मा मार डाला इसने मुझ……… ऐसे चिल्लाने लगी और रोने लगी तो मैने सोचा की शायद बहुत ज़्यादा दर्द हो रहा है और मैने आपना लंड बाहर निकाला इसके लिए भी मुझे ज़ोर लगाना पड़ा था, जैसे ही मेरा लंड बाहर आया उसे देखार मेरी तो जान ही निकल गयी क्यॉंके मेरा पूरा लंड खून से भरा हुआ था और ज़ारा की चुत से भी खून . रहा था,

loading...

उसे देखते ही,…..ओह माई गोद तुमने मेरी चुत फाड़ दी…देखो कितना ब्लड आ रहा है…..आअहह…..ऊऊहह….ओह मम्मी. और फिर रोने लगी, मैने फिर से उसके लिप्स चूसना और बूब्स दबाना स्टार्ट किया इस बार उसने मुझे आपना लंड दुबारा नही डालने दिया लगभग 15-20 मीं. बाद वो रिलॅक्स हुई तो मैने लंड फिर घुसना चाहा तो उसने कहा ज़ारा: नही मुझे नही चुदयाना मेरी जान निकल दी तुमने ई साइड: पहले तो बोल रही थी चोदा वरना मैं मार जौंगी, पागल हो जौंगी, ज़ारा: मुझे क्या पता था की इतना दर्द होता है ई साइड: ओक अब मैं धीरे से घुसौंगा और दर्द भी नही होगा, अगर हुआ तो स्टार्ट मे थोड़ा सा होगा फिर तुम्हे जन्नत का मज़्ज़ा आएगा, जैसे तैसे मैने उसे मनाया और सोच लिया इस बार नही मानूँगा, मैने दुबारा करीम लगाई और लंड को ज़ारा की ब्लड से भारी चुत पर रखा और आपने पूरे दूं से धक्का मारा,…

Hindi Sex Stories, Indian Sex Stories, Hindi Font Sex Stories, Desi Chudai Kahani, Free Hindi Audio Sex Stories, Hindi Sex Story, Gujarati sex story, chudai, kamukta, kamukta story

ज़ारा की आँखे बाहर होने को आई वो ऐसे तड़पने लगी जैसे फिश को पानी से बाहर नकालने पर वो तड़पाती है, उसने छूटने की बहुत कोशिस की लेकिन मैने उसे जाने नही दिया और उसके लिप्स पर आपने लिप्स रखकर स्ट्रोक लगाने लगा, वो रोने लगी लेकिन मैं नही माना 3-4 मीं बाद वो रिलॅक्स लगने लगी तो मैने आपने लिप्स उसके लिप्स से हटाए लगता है आज मुझे मारकर ही मनोगे……तुम सेक्स कर रहे हो या रेप कर रहे हो….हटो वरना मैं चिल्लौंगी.लेकिन मैने कुछ नही कहा और स्ट्रोख्क्स लगाना जारी रखा , थोड़ी देर बाद ज़ारा को भी मज़ा आने लगा था….और अंदर डालो…मेरी चुत के टुकड़े कर दो…..ओह मेरे राजा, मुझे क्या पता था चुदाई मैं इतना मज़ा आता है….और ज़ोर से ..मेरी चुत को भोसड़ी बना डालो….चोदो मुझे..और ज़ोर से धक्का मरो इस तरह से वो चिल्लाने लगी, घर मे कोई नही था इसलिए हमे किसी तरह की कोई प्रेशानि नही थी.

अचानक ज़ारा बोली अब मैं चोदूँगी तुम्हे और वो मुझे नीचे लिटा कर खुद मेरे उपर आ गये और ज़ोर ज़ोर से शॉट लगाने लगी, वो उपर से शॉट लगा रही थी और मैं नीचे से ऐसा लग रहा था जैसे कोई कोम्पतेटिओं चल रहा है ..ओह मेरे राजा मेरे ज़ैन….ऐसा लग रहा है जैसे मैं हेवेन मे हू…चोदो मुझे… वह मेरे राजा आज मेरी चुत को फाड़ ही डालो…. सडन्ली ई फील ई आन कमिंग. मैने ज़ारा को नीचे पटका और तूफ़ानी रफ़्तार से शॉट मरने लगा. सडन्ली ज़ारा एकदम मुझसे चिपक गयी मैं समझ गया की ऐसा क्यो हुआ है, एक दो शॉट के बाद मैं भी खल्लास हो गया. हम दोनो वही फर्श पर लेते रहे….. शाम हो चुकू थी इसलिए हम रात का प्रोग्राम सेट करने लगे.. रात को मैने ज़ारा की गांड भी मारी……

 Hindi Sex Stories, Indian Sex Stories, Hindi Font Sex Stories, Desi Chudai Kahani, Free Hindi Audio Sex Stories, Hindi Sex Story, Gujarati sex story, chudai, kamukta, kamukta story
loading...
... ...