Sexsamachar.com
... ...

मेरी फर्स्ट सेक्स स्टोरी Hindi sex stories

Hindi sex kahaniya, Hindi sex stories, Kamukta, Antarvasna

यह मेरी फर्स्ट स्टोरी है मेरा नाम आहज़म है और मैं फ़ैसलाबाद का रहने वाला हूँ सब को मैं अच्छा लगता हूँ और सब जल्दी मुझे से फ्री भी हो जाती मैंने अभी रीसेंट्ली अपनी स्टडी कंप्लीट की है मैं आप सब से अपनी लाइफ के कुछ सीकरेट्स शेयर करना चाहता हूँ जो मेरी और मेरी आंटी और कज़िन्स के दरमियान हुए और मेरी लाइफ कलरफुल हो गये अब मैं आप सब से अपना सब से पहला एक्स्पायियेन्स शेयर करने जा रहा हूँ जो मेरी और मेरी आंटी जिन का नाम अनूं है उन के साथ हुआ आंटी की आगे 23 य्र्स थी और मेरी आगे 19 य्र्स थी मैं उस वक्त मेरी आंटी अनूं बहुत सेक्सी हैं अट्रेक्टिव बॉडी कलर फेयर बॉडी भारी भारी सेहतमंद कोई भी देख लिए तो मुंह मैं पानी आ जाये उन के बूब्स बड़े बारे देख के ही नशा हो जाए उन का साइज 36″ उन की कमर 30 देख के पकड़ के चॉंने को दिल कार्य और सब से ज्यादा सेक्सी उनकी हिप यानि गंध उउउफ्फ उस पर तो कातने का दिल करता है फोरान सो अब मैं अपनी स्टोरी पर आता हूँ 1 दिन अनूं आंटी ने मुझे कॉल की के तुम्हारा पीसी यूज कर के मैंने अपने कुछ एडमिशन फॉर्म्स सेंड करने हैं तो क्या मैं उसे कर सकती हूँ इन दीनों मुझे कालेज से छुट्टियाँ थी और मेरी आंटी कालेज टीचर हैं वो कालेज ऑफिस वर्क लिए जाती थी उन दीनों क्यों के कालेज तो ऑफ था और मेरी कजिन न भाई स्कूल गये हुए थे मैंने आंटी को कहा ग आप कर सकती हैं उसे उन्होंने कहा फाड़ मुझे आ के ले जाओ उनका घर हुमरे घर के पास ही है

सो मैं उन को अपनी बाएक पर लेने गया उनको देख कर ही मैं पागल हो गया उन को साथ ले कर मैं अपने घर आया और पीसी ऑन कर के दिया वो बैठी तरह हुई थी के उस के बूब्स नज़र आ रहे थे उसने खुली गली वाली क़मीज़ पहनी हुई थी जिस मैं से आंटी के बूब्स ब्रा मैं से झांकती हुए नज़र आ रहे थे मैंने तो इरादा कर लिया के आज आंटी को ऐसी नहीं जेनी देना मैं आंटी को वहीं चोर के मेडिकल स्टोर पर गया जो के मेरी दोस्त का था मैंने उसी बताया के मैं अपनी 1 गर्लफ्रेंड के साथ सेक्स करना चाहता हूँ पर डरता हूँ के वो प्रेगनेंट ना हो जाए तो उसने मुझे कॉनडम्स दिए और एक्सटमेंट के लिए टेबलेट्स दिए मैं घर वापिस आ गया मैं आंटी को एक्साइड करने के लिए कोल्ड्रींक मैं टेबलेट्स पीस कर दी और जो मैंने खानी थी वो खाए आंटी अपने काम मैं बिज़ी थी कभी कभी मुझे भी देख रही थे कुछ देर बाद आंटी मछली की तरह मचलने लगी मैं सॉंग भी ऐसा लगाया था के बस मूंड़ खुद ही रोमॅंटिक हो जाए मेरी सब्र की एंतिहान खत्म हो रही थी मैंने हिम्मत कर के आंटी के दुपट्टे को खेंच के दूर फेंक दिया और उन के कमीज के ऊपर से ही उन के बूब्स प्रेस करने लगा

loading...

Hindi sex kahaniya, Hindi sex stories, Kamukta, Antarvasna

उन्होंने मुझे घूर के देखा और पूछ ये क्या कर रहे हो मैंने कहा आंटी आप मुझे बहुत अच्छी लगती हो आप को प्यार करने का दिल करता है आंटी इतनी देर मैं खड़ी हो गये कहने लगी ये ठीक नहीं है मैंने कहा आंटी आप मुझे बहुत अच्छी लगती हो और अपनी आंटी को प्यार करना कोई जुर्म नहीं है आंटी ने बाहर दरवाजे की तरफ जाना चाहा लेकिन मैंने आंटी की कमर पकड़ के अपनी तरफ खेंच लिया और सोफे पर गिरा दिया आंटी ने कहा ये ठीक नहीं है मैंने कहा आंटी बहुत देर से आप को प्यार करने की हसरत है प्लज़्ज़्ज़्ज़ आज मत रोको किसी को कुछ भी नहीं पता चले गा और फाड़ मैंने आंटी के बूब को पकड़ा और प्रेस करने लगा आंटी मछली की तरह मचलने लगी और बोली ये ठीक नहीं है मत करो मैंने 1 ना सुनी और आंटी के बूब्स को कमीज के ऊपर से ही प्रेस कर रहा था फाड़ मैंने आंटी के लिप्स पर किस किया और उनका ऊपर वाला होंठ चूसने लगा

आंटी कुछ देर तो मना करती रही के चोरो मुझे वरना मैं बाजी यानि मेरी आंटी को बता दूँगी मैंने कहा आंटी आप जिस को मर्जी बता दो मैंने आज आप को ऐसी नहीं चोरों गा आज तो आप को अपनी बना के ही चोरों गा आंटी ने कुछ देर मना करने के बाद मेरी लिप्स को चुसटा शुरू कर दिया फाड़ मैंने आंटी की जुबान को चूसने लगा ऑलमोस्ट 10 मिंट्स तक किसी करने के बाद मैंने आंटी की कमीज को उतार दिया और उन की ब्रा की हुक खोल दी अब आंटी बिलकुल टप्लेसस थी और शर्मा के अपने बूब्स पर हाथ रख लिए मैंने आंटी को फाड़ करीब किया और लिप्स पर किस्सिंग शुरू कर दी और और एक हाथ से उन के बूब्स को बड़ी बड़ी प्रेस करने लगा फाड़ मैंने आंटी की गर्दन पर किस की और स्लोली स्लोली नीचे आ गया अब उन की चेस्ट को किस कर रहा था फाड़ मैंने उन का 1 बूब अपने मुंह मैं लिए कर उन की निप्पल चूसने लगा और दूसरा हाथ से 2न्ड बूब की निप्पल को खींचने लगा उन के मुंह से अजीब सी आवाजें आना शुरू हो गाएँ सिसकियों की मुझे और मजा आने लगा मैंने 2न्ड बूब को मुंह मैं ले के निप्पल को चूसना स्टार्ट किया और 1 हाथ उनकी सलवार मैं डाल दिया उन की चुत बिलकुल हेरलेस थे शायद 1 2 दिन पहले ही शेव की थी 1 दम सॉफ्ट मुलायम थी मैंने उन की चुत के लिप्स पर हाथ मसलना शुरू किया तो आंटी तड़प गये और सिसकियां लेनी लगी मैंने 5 मैंने मसलने के बाद हाथ भी निकल के उन की सलवार जो के लस्टिक वाली थी उतार दी अब आंटी सिर्फ़ रीड पैंटी मैं थी जो के ब्रा के कलर की थी वो भी झटके से उतार दी और फाड़ आंटी बिलकुल नंगी हो गये मैंने आंटी को कहा के आप मेरी क्लोथस उतरोगी के मैं खुद ही उतार लंड तो आंटी ने मेरी शर्ट उतार दी और फाड़ तरऔज़ेर भी क्यों के मैं अभी तक स्लीपिंग ड्रेस मैं था उतार दिया

loading...

अब मैंने भी आंटी की तरह बिलकुल नंगा था मेरा 7 इंच का लंड देख के आंटी डर गये मैंने आंटी को फाड़ से किस करना स्टार्ट कर दिया और 1 हाथ से उनका 1 बूब और 2न्ड से उनकी चुत पर मसलने लगा अब आंटी को भी मजा आने लगा था मैंने देर ना करती हुए आंटी को बेड पर ले गया और उन के ऊपर आ गया उन के लेग्स को खोला अपने लंड पर कॉंडम लगाया और आंटी की तंगायन खोल कर उन की चुत के सुराख पर रगड़ने लगा अब मैंने आंटी की चुत के दाने को चेली तो वो तड़प गये मैंने आंटी की नीट न क्लीन चुत पर आइल लगे अपना लंड चुत के सुराख पर रख के ज़ोर का झटका लगाया और मेरी लंड का 3 इंच आंटी की चुत मैं चला गया और वो ज़ोर से चीखी और ऊपर को उठी मैं रुक गया और फाड़ कुछ देर बाद फाड़ स्ट्रोक लगाया और पूरा 7 इंच का लंड उन के अंदर चला गया और आंटी की सील टूट गये और खून आने लगा जैसी देख के आंटी रोने लगी

मैंने अब स्लोली स्लोली अंदर बाहर करना स्टार्ट किया आंटी भी अब दर्द कम होने की वजह से मजा लेने लगी और आवाजें अहह ऊवू हाा और ज़ोर से करो निकालने लगी मैंने झटकोन के साथ आंटी के बूब्स को प्रेस करना और लिप्स को किस करना स्टार्ट कर दिया आंटी भी साथ देने लगी मैंने अपनी बढ़ता को इनकरीस किया और बढ़ता के साथ खला भी ऊपर उठने लगी और ऑलमोस्ट 30 मिंट्स मैं आंटी ने 2 बार पानी छोरा मैं भी डिसचार्ज होने के करीब था मैंने अपनी बढ़ता इनकरीस कर दी और ज़ोर के झटके से डिसचार्ज हो गया और आंटी के साथ किस्सिंग करता रहा फाड़ हम दोनों ने साथ मैं बात लिया और वापिस आ कर लेट गये आंटी उल्टी हो कर लेती थी मुझे मैं फाड़ शैठान आया और मैंने आंटी की गान्ड को सहलाना शुरू कर दिया और आंटी से कहा के मुझे इस मैं 1 बार डालने दो तो आंटी मना करने लगी के नहीं यहां नहीं मैंने जिद की और आख़िर मैं आंटी हार गये और कहने लगी के सिर्फ़ 1 बार ओके मैंने कहा ओके लेकिन मेरी शायर को तो जगा दो तो आंटी ने झिझकती हुए मेरी लंड को पकड़ा और मसलने लगी सोखा होने के वजह से बहुत खुरदरा था आंटी ने आइल लगाया और फाड़ 10 मिनट के बाद लंड फाड़ तैयार हो गया मैंने आंटी को उल्टा लिटाया और ऊपर चड़ गया और गान्ड पर रख के रगड़ने लगा आंटी की गान्ड का सुराख नज़र नहीं आ रहा था

loading...

मैंने आंटी को दोगी स्टाइल मैं आने को कहा तो आंटी उस पोज़िशन मैं आ गये मैं आंटी की गान्ड के सुराख पर लंड रख के ज़ोर लगाया तो वो स्लिप हो गया मैंने 1 बार फाड़ आंटी के सुराख पर लंड रखा और ज्यादा ज़ोर के साथ झटका मारा तो मेरी लंड का हेड अंदर चला गया और आंटी ने 1 ज़ोर डर चीख मारी मररर गये मैं ये क्या किया तुम ने मैंने थोड़ा वा8 किया और दर्द के थोड़ा कम होते ही ज़ोर डर झटका मारा मेरा आधा लंड आंटी की गान्ड मैं चला गया अब अनूं कहला को भी मजा आ रहा था कहने लगी के मुझे नहीं पता था के तुम मुझे ऐसी नजरों से देखती हो मैंने 1 झटका और लगाया तो आंटी के अंदर मेरा 7 इंच का लंड समा गया मैं अब आराम से लंड को अंदर बाहर करने लगा और तकरीबन 25 मिनट के बाद मैं डिसचार्ज हो गया इस तरह मैंने अनूं आंटी को चोदा और मजा किया इस के बाद मैं आंटी को उन के घर चोर कर आया और जब भी मौका मिला अपने घर या उन के खूब मजा किए

Hindi sex kahaniya, Hindi sex stories, Kamukta, Antarvasna

loading...
... ...