Sexsamachar.com
... ...

दोस्त की बहन तमन्ना को तिन दिन तक चोदा

Hindi Sex Stories, Hindi sex story, chudai ki kahani, Hindi Sex Kahaniya Hindi Sex Stories, Indian Sex, हिन्दी सेक्सी कहानीयां, जीजा साली, देवर भाभी, कुंवारी चूत, aunty, bhabhi.

हाय रीडर्स में सनी. आप लोगो को आज में आप लोगो को अपने दोस्त की बड़ी बहन की सेक्स स्टोरी सुनाने जा रहा हूँ. आज मे जो कहानी सुनाने जा रहा हूँ. वो मेरे दोस्त की बहन के साथ किये गये सेक्स की है.में 24 साल का हूँ. ये कहानी पिछले महीने की है. में रक्षाबन्धन की छुट्टी मे घर पर अकेला था. रविवार को में अपने दोस्त के घर गया. उसकी एक बहन है जिसका नाम है तमन्ना. देखने मे बिल्कुल ही मस्त लगती थी. उसकी लम्बाई 5फिट 6 इंच थी. में ज्यादातर अपने दोस्त के घर उसके पास जाता था. वो इतनी सुंदर और गोरी थी की में उसे बयान नही कर सकता हूँ. मैने उसके साथ सेक्स करने का प्लान तो कई बार बनाया लेकिन मौका ही नही मिलता था. उस दिन मेरे दोस्त के मम्मी, पापा सूरत गये हुये थे, मेरा दोस्त और उसकी बहन घर पर अकेले थे जब में पहुचा तो मेरे दोस्त ने मुझसे कहा की वो भी सूरत जाना चाहता था पर तमन्ना के एग्जाम (यूनिट टेस्ट) की वजह से नही जा पाया, फिर उसने कहा की तुम कुछ दिन मेरे घर रुक जाओ तो में सूरत चला जाऊँगा, मेरी तो दिल की हसरत जैसे पूरी हो गयी लेकिन उसे शक ना हो इसलिये में हिचखीचाने लगा पर वो रिक्वेस्ट करने लगा तो में तैयार हो गया मेरा दोस्त दोपहर की ट्रेन से सूरत चला गया. उसे छोड़ने के बाद में जब घर पहुँचा तो मैने तमन्ना को हाफ पैंट और टी शर्ट मे बेड पर बैठा पाया. में उसकी गोरी टांगों को देखता रहता था. लेकिन उसने कभी ध्यान नही दिया. में कुछ देर तक उसके साथ बात करता रहा. अब में सोने के लिये तैयार होने लगा. मैने अपनी पैंट खोल के टावल पहन लिया और बेड पर लेट गया. उसके घर मे सिर्फ़ दो रूम ही थे चुकी इस रूम मे ए.सी था इसलिये वो भी उस रूम मे आ गयी. तमन्ना भी सीधी और रूम के दरवाजे को बंद करके लाइट बुझा के नाइट बल्ब को जलाकर के मेरे बगल मे आ के लेट गयी. उसने अपनी पीठ को मेरी तरफ कर रखा था. में कुछ देर तक सोचता रहा. कुछ देर के बाद मैने फाइनल कर लिया की अब मुझे सोचना नही चाहिये. मैने अब अपनी कमर को उसकी कमर से सटा दिया. उसने अपनी कमर को थोड़ा सा खीचा. मैने फिर थोडी देर के बाद अपनी कमर को उसकी कमर से सटाया. अब वो दीवार से सट चुकी थी. तो मैने अपनी कमर को उसकी कमर से सटाने के बाद जैसे ही अपने हाथ को उसकी कमर पर रखा तो उसने बोला‘ये क्या कर रहे हो‘ मैने बोला वही जो एक जवान लड़का एक सुंदर जवान और हसीन लड़की को अकेले मे पाकर करता है. वो बोली ‘ नही मैं ये नही करूँगी‘. मैने बोला की ‘क्यो तुम्हारा मन नही करता‘ वो बोली नही ये ग़लत है.

मैने बोला की ग़लत क्या है. ये तो बिल्कुल सत्य है. अब मेंने ये कहते हुये उसकी पैंट के एक बटन को खोल दिया. उसने मेरे हाथो को पकड़ के अपनी कमर से हटा दिया. मैने पीछे से उसकी पैंट को खीच दिया. वो पैंट को खीच के पहनने लगी तो मैने उसके हाथ को हटा दिया और उससे बोला ‘ क्यो दिखावा कर रही है, तुम्हारा मन भी तो है., और मैने उसकी पैंट को दोनो हांथो से पकड़ के खोल दिया. उसने मुझे धक्का दे दिया और रूम का दरवाजा खोलने लगी मैने उसे पकड कर बेड पर गिरा दिया और उसके बोबे दबाने लगा. अब मैने अपने एक हाथ से लंड को पकड़ के दूसरे हाथ को उसकी गांड पर फेरते हुये अपने लंड को उसकी गांड के होल के पास ले गया. अब मैने एक हाथ से उसकी गांड को फैलाते हुये अपने लंड को उसके गांड मे जाने के लिये रास्ता दिखाया. मैने उसकी गांड के होल के दरवाजे पर रखते हुये उसकी कमर को पकड़ के अपनी कमर से ज़ोर का झटका मारा और वो आआऔऊक्कक्काअ कर के सिसक उठी. मैने पूछा क्या हो गया है. वो बोली हाह्ह्हअ अब मैने अपने हाथ से उसकी कमर को पकड़ के अपनी तरफ खीच के अपने लंड को उसकी गांड मे जल्दी से जल्दी ले जाने के लिये ज़ोर ज़ोर के झटके मारने लगा. वो मेरे हर झटके के साथ आआहह ओह हाहहआ की आवाज़ निकालती जो मेरे मन को और भी बढ़ाती थी. कुछ देर मे मैने अपने पूरे लंड को उसकी गांड मे घुसा दिया था. दस मिनट तक गांड मारने के बाद मेरा पूरा वीर्य उसकी गांड मे गिर गया. मैने अपने लंड को निकाल दिया और कुछ देर तक वैसे ही लेटे रहने के बाद उठ के बाथरूम मे चला गया.

loading...
loading...

मैने पेशाब करने के बाद अपने लंड को पूरी तरह से साफ किया और तब में रूम मे आया. आने के बाद मैने तमन्ना को वैसे ही बेड पर पड़ा पाया. मैने बोला जाओ बाथरूम नही जाना. वो बिना कुछ बोले बाथरूम मे चली गयी. मैने अब अगले दौर की तैयारी करना शुरू कर दिया. मैने अपने लंड को तेल के डिब्बे मे डाल दिया. जैसे ही तमन्ना रूम मे आई मैने उससे पूरे कपड़े उतारने के लिये बोला वो बोली की ‘अब चोदोगे भी?’ मैने बोला हाँ ये तो अभी ट्रेलर था अभी फाइनल तो बाकी है. उसने अपनी टी शर्ट और ब्रा को खोल के बेड के पास रख दिया. मैने देखा की उसकी चूत पर तो एक भी बाल नही थे.मैं इसी तरह की चूत को चोदना पसंद करता हूँ. मैने उसके हाथो को पकड़ के अपने लंड को उसके हाथो मे पकडाते हुये उसे मुहँ मे लेने के लिये बोला क्योकि में अभी पूरी तरह से तैयार नही हुआ था. उसने मेरे लंड को अपने हाथो मे ले लिया और अब झुक के मेरे लंड को अपने मुहँ मे लेने के बाद चूसने लगी. में कुछ देर मे बिल्कुल ही गर्म हो गया, मैने उससे लंड छोड़ के बेड पर लेटने के लिये बोला. उसने अपने मुहँ से लंड को निकाल दिया और बेड पर सीधे लेट गयी. मैने डिब्बे से तेल निकाल के उसकी चूत पर लगा दिया. उसकी चूत की साइज़ 2.5 इंच होगी. में अब उसकी जाँघ पर बैठ के उससे चूत को फैलाने के लिये बोला. तमन्ना की चूत इतना सुंदर थी की में अपने लंड को जो की लगभग 8 इंच लंबा और 2.5 इंच चौड़ा है, एक झटके मे पूरा अंदर डाल देना चाहता था.मैने अपने लंड को जैसे ही उसकी चूत के उपर रखा उसने अपने दोनो हाथो से अपनी चूत को फैला दिया. मैने अपने लंड को एक हल्के से झटके के साथ जैसे ही चूत के अंदर किया वो आआआअहह की आवाज़ के साथ पूरी तरह से सिसक उठी. उसने अपने दोनो पैरो को पूरी तरह से टाइट कर दिया. मैने अब उसकी दोनो तनी हुई चूची को अपने दोनो हथेलियो मे लेते हुये हल्का हल्का दबाना शुरू किया. मैने कुछ देर के बाद जब देखा की उसके पैर अब धीरे धीरे ढीले पड़ने लगे तो मैने अपनी कमर को फिर से हिलाना शुरू कर दिया. अब उसके मुहँ से फिर से आअहह ऊऊसस ऊआाअ की आवाज़ निकलने लगी.मैने उसकी चूचीयों को ज़ोर ज़ोर से मसलना शुरू कर दिया. कुछ देर बाद मैने एक ज़ोर का झटका मारा तो वो आआआअहनाईईईईईईईईईईईईई करके चिल्ला उठी. मैने पूछा क्या हुआ वो बोली कि लगता है चूत फट गयी. मैने अपने लंड के आधे हिस्से को उसकी चूत मे डाल दिया था. अब मैने उसके पैर को फैलाने के लिये उठ के बैठ गया और उसके पैरो को पकड़ के फैला दिया. अब मेंने अपने लंड को उसकी चूत के अंदर ले जाने का पूरा फ़ैसला कर लिया. मैने उसकी कमर को पकड़ के एक ज़ोर का झटका मारा इस बार तो वोआाहह नहहिईीईईईईईईईईई आआहाआह्ह्ह्हह्ह्ह्ह आआआ करके जैसे बुरी तरह से छटपटा उठी.

मैने जब उसकी चूत पर देखा तो पाया की मेरा पूरा लंड उसकी गोरी चूत के अंदर जा चुका था. मैने जब देखा की वो ऐसे शांत नही होगी तो मै उसके उपर लेट गया और उसके होठों को अपने होठों मे ले के दबा लिया और अपने दोनो हाथो से उसकी दोनो चूचीयो को मसलने लगा. मैने ज़ोर ज़ोर से झटका लगाना भी शुरू कर दिया. मैंने कुछ देर के बाद अपनी कमर के नीचे देखा तो पाया की वो भी अब अपनी कमर को हिलाने लगी थी. शायद उसे भी अब मज़ा आ रहा था. मैने पूछा की मज़ा आ रहा है तो उसने मुस्कुरा के सर को हिलाया. कुछ देर तक इसी तरह से चुदाई करने के बाद मैने अपने वीर्य को जैसे ही उसकी चूत मे गिराया तो मैने उसके होठों को कुछ देर तक चूसा और एक तरफ उसकी दोनो चूचीयो को मसलता रहा तो दूसरी तरफ उसके होठों को चूसता रहा और उसने भी मेरा पूरा साथ दिया.अब हम दोनों बुरी तरह से थक चुके थे. में कुछ देर तक उसके उपर लेटा रहा और बाद में उठ के अपने लंड को निकाल के तमन्ना के बगल मे लेट गया. और कुछ देर मे हम दोनो वैसे ही सो गये. सुबह जब नींद खुली तो सुबह के 9 बज़ रहे थे. मुझे अपने काम से जाना था. में उठ के तैयार हो गया. तमन्ना भी उठ गयी थी. वो भी खुश थी. मैने मुस्कुराते हुये पूछा ‘कैसी लगी रात की चुदाई वो मुस्कुराते हुये बोली ‘बहुत अच्छा लगा तुमने तो मेरी चूत ही फाड़ डाली.‘ मैने उसके कपडे पहनने के बाद दरवाज़ा खोला और अपने घर के लिये निकल गया. इसके बाद 3 दिन तक चोदा.

 

Hindi Sex Stories, Hindi sex story, chudai ki kahani, Hindi Sex Kahaniya Hindi Sex Stories, Indian Sex, हिन्दी सेक्सी कहानीयां, जीजा साली, देवर भाभी, कुंवारी चूत, aunty, bhabhi.

loading...
... ...